June 25, 2024
BJP

BJP को लेकर जनता में जबरदस्त रोष, क्षेत्र से खदेड़े जा रहे भाजपा नेता

Share this news :

देश की जनता में BJP को लेकर रोष देखने को मिल रहा है. हाल के कुछ दिनों में कई ऐसे वीडियोज सामने आए हैं, जिसमें बीजेपी सांसदों और नेताओं को उनके ही क्षेत्र से जनता भगाती नजर आ रही है. दरअसल, जनता के इस बात से नाराज है कि बीजेपी नेता केवल चुनाव के वक्त ही क्षेत्र में नजर आते हैं. चुनाव जीतने के बाद ये नेता पांच साल तक क्षेत्र से लापता हो जाते हैं. ऐसे में भाजपा के ऐसे नेताओं को लोग चिन्हित कर भगा रहे हैं.

बीजेपी सांसद रविंद्र कुशवाहा को ग्रामिणों ने खदेड़ा

सबसे ताजा मामला बलिया के सलेमपुर से दो बार के बीजेपी सांसद रविन्द्र कुशवाहा से जुड़ा है, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. दरअसल, बीजेपी सांसद रविन्द्र कुशवाहा सिकंदरपुर में चुनाव प्रचार करने के लिए पहुंचे थे. इस दौरान वहां की जनता ने रविंद्र का विरोध करना शुरु कर दिया. रविंद्र कुशवाहा को रोककर ग्रामिण उनसे पांच साल का हिसाब-किताब मांगने लगे. जिसके बाद भाजपा सांसद की बोलती बंद हो गई.

भाजपा के दिग्गज नेता गिरिराज सिंह को जनता ने भगाया

दूसरा मामला केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का देखने को मिला. गिरिराज सिंह बेगूसराय में बछवारा में आयोजित 14 सड़कों के शिलान्यास और उद्घाटन समारोह में शामिल होने जा रहे थे, जब बछवारा के रानी गांव के पास लोगों ने एक हाथ में भाजपा का झंड़ा और दूसरे हाथ में काला झंड़ा लेकर विरोध करना शुरू कर दिया. प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि गिरिराज सिंह ने बेगूसराय में सिर्फ ढोंग रचा है और विकास का कोई काम नहीं किया. यहां तक कि गिरिराज सिंह ने गोविंदपुर के जिन तीन पंचायतों को गोद लिया था, वहां आज तक एक चंपा नल भी नहीं मिला. इन्हीं कारणों से बेगूसराय के लोग केंद्रीय मंत्री से नाराज हैं और उनका विरोध कर रहे हैं.

प्रवीण निषाद का जमकर हुआ विरोध

ऐसा ही कुछ हुआ जब संत कबीर नगर से BJP प्रत्याशी प्रवीण निषाद के साथ, जब वे अपने लोकसभा क्षेत्र में चुनावी प्रचार के लिए पहुंचे. यहां भी जनता ने बीजेपी प्रत्याशी का जमकर विरोध किया. लोगों का कहना था कि प्रवीण निषाद चुनाव जीतने के बाद संत कबीर नगर में नजर ही नहीं आए और अब दोबारा चुनाव लड़ना है तो वोट मांगने चले आए हैं.

मैदान छोड़ भाग रहे BJP प्रत्याशी

इन सब घटनाओं से बीजेपी को भी यह समझ आने लगा है कि देश की जनता में उसे लेकर काफी ज्यादा नाराजगी है. ऐसे में बीजेपी नेताओं के लिए चुनाव जीतना मुश्किल है. यही कारण है कि कई बीजेपी प्रत्याशी चुनाव लड़ने से पहले ही मैदान छोड़ कर भाग गए हैं. चुनाव हारने के डर से ये प्रत्याशी बीजेपी का टिकट लौटा रहे हैं. बीजेपी सांसद गौतम गंभीर और जयंत सिन्हा ने तो पहले ही चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया. वहीं भोजपुरी स्टार पवन सिंह ने भाजपा से टिकट मिलने के बाद चुनाव लड़ने से मना कर दिया.


Also Read-

‘राहुल गांधी ने सिर्फ कहा नहीं, कर दिखाया’, कांग्रेस की दूसरी लिस्ट में भी 76.7% उम्मीदवार SC, ST और OBC वर्ग से

भारत में 67 लाख बच्चों को नहीं मिलता भोजन, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *