June 19, 2024
Akash Anand

Akash Anand

Share this news :

Akash Anand News: लोकसभा चुनाव के बीच बहुजन समाज पार्टी ने आकाश आनंद को पार्टी के नेशनल कोऑर्डिनेटर की जिम्मेदारी से हटा दिया है. जिसके बाद से यूपी की राजनीति में अलग तरह का भूचाल आ गया है . बसपा प्रमुख मायावती के इस फैसले पर राजनीतिक जानकारी हैरानी जता रहे हैं. बसपा सुप्रीमों ने मंगलवार (07 मई) को ट्वीट कर इस बार की जानकारी दी.

अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आकाश आनंद को नेशनल कोऑर्डिनेटर के पद से हटाए जाने पर प्रतिक्रिया दी है. अखिलेश यादव ने एक्स पर पोस्ट करते हुए कहा कि बसपा ने अपने संगठन में बड़े बदलाव का जो भी क़दम उठाया है वो उनकी पार्टी का आंतरिक विषय है. दरअसल इसके पीछे असली कारण ये है कि बसपा की एक भी सीट आती हुई नहीं दिख रही है क्योंकि बसपा के अधिकांश परंपरागत समर्थक भी इस बार संविधान और आरक्षण को बचाने के लिए इंडिया गठबंधन को ही वोट दे रहे हैं.

BSP का संगठन हुआ विफल

अखिलेश यादव ने आगे कहा कि इस बात को बसपा अपने संगठन की विफलता के रूप में ले रही है. इसीलिए उनका शीर्ष नेतृत्व संगठन में इतना बड़ा फेर-बदल कर रहा है लेकिन अब बाज़ी बसपा के हाथ से निकल चुकी है. सच तो ये है कि जब बसपा का प्रभाव क्षेत्र होते हुए भी पिछले तीन चरणों में उनकी एक भी सीट नहीं आ रही है तो फिर बाकी के चार चरणों में तो कोई संभावना बचती ही नहीं है. ऐसे में हम सभी वोटरों से अपील करते हैं कि आप अपना वोट ख़राब न करें और जो बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर जी के संविधान को बचाने के लिए सामने से लड़ रहे हैं, इंडिया गठबंधन के उन प्रत्याशियों को वोट देकर जिताएं और संविधान के संग, आरक्षण भी बचाएं.

गौरतलब है कि आकाश आनंद को मायावती ने अपना उत्तराधिकारी और पार्टी का नेशनल कोओर्डिनेटर बनाया था. लेकिन अब अचानक से आनंद पर इस एक्शन ने राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज कर दी है.

इसीलिए आग्रह है कि संविधान, आरक्षण और अपना मान-सम्मान बचाना है तो अपना वोट सपा को दें या जहाँ इंडिया गठबंधन का प्रत्याशी हो वहाँ डालकर संविधान और आरक्षण विरोधी भाजपा को हराएं.

Also Read: लोकसभा चुनाव के बीच सोनिया गांधी का जनता के नाम खास संदेश, वीडियो जारी कर कही ये बात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *