June 19, 2024
Share this news :

Baisakhi 2024: बैसाखी का पर्व हमारे देश में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है. इस दिन सूर्य का मीन से मेष राशि में गोचर होता है. इसी कारण इस दिन को मेष संक्रांति के नाम से भी जाता है. इस पर्व को मुख्य रुप से पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में मनाया जाता है. सिख धर्म के लोग इस दिन को नव वर्ष के रूप में मनाते हैं. बता दें कि इस साल बैसाखी का पर्व 13 अप्रैल को मनाया जाएगा.

बैसाखी की तिथि और मुहुर्त (Baisakhi 2024 Tithi)

इस साल बैसाखी 13 अप्रैल को मनाई जाएगी. हिंदू पंचांग के अनुसार, इस दिन सौभाग्य और शोभन योग का निर्माण हो रहा है. इस योग को बहुत ही शुभ माना जाता है. वहीं बैसाखी संक्रान्ति का क्षण रात 9:15 मिनट पर होगा. इस दिन गुरूद्वारों में लंगर का खास आयोजन किया जाता है. साथ ही गुरूद्वारों में भजन, कीर्तन और सतसंग का आयोजन होता है.

क्यों मनाई जाती है बैसाखी?

बैसाखी का त्योहार मुख्य रुप से सिख धर्म के लोग मनाते हैं. इस दिन को खालसा के गठन का प्रतीक माना जाता है. मान्यता अनुसार, वर्ष 1699 में, 13 अप्रैल के दिन सिखों के दसवें व अन्तिम सिख गुरु, गुरु गोविन्द सिंह ने खालसा पन्थ की स्थापना की थी. उन्होंने सभी जातियों के बीच भेदभाव को समाप्त कर सबको एक समान घोषित किया था.

बैसाखी का यह त्योहार मुख्य रुप से किसानों को समर्पित है. इस दिन किसान पूरे साल में हुई फसल के लिए ईश्वर का आभार व्यक्त करते हैं और नई फसल से निकले पहले अनाज के दाने को भगवान को चढ़ाते हैं.


Also Read-

कांग्रेस के मैनिफेस्टो पर राहुल गांधी ने सुनी लोगों के ‘मन की बात’, जनता ने कहा- बेहतरीन है घोषणापत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *