July 15, 2024
Nana Patole

Nana Patole

Share this news :

Nana Patole On Atal Setu: महाराष्ट्र में अब अटल सेतु को लेकर सियासी पारा चढ़ा हुआ है. दरअसल, मुबंई ट्रांस-हार्बर लिंक (एमटीएचएल) यानी अटल सेतु पर पर दरारे आ गई हैं. इसे लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले लगातार केंद्र की मोदी सरकार को घेर रहे हैं. अब नाना पटोले ने कहा “अभी मुंबई में बारिश नहीं हुई है. अगर बारिश हुई होती तो क्या हाल हुआ होता. अटल सेतु पर अभी से क्रैक आ चुका है और अब सरकार सफाई दे रही है.”

नाना पटोले ने आगे कहा कि, मैं सरकार से एक सवाल पूछना चाहता हूं इस साल मुंबई में उस तरह की बारिश नहीं हुई जैसी आमतौर पर होती है, नहीं तो पूरा रास्ता बह जाता.वैसे, अगर 2-2.5 फुट लंबे रास्ते में दरार है, तो हम इसका क्या मतलब निकाल सकते हैं. उन्हें (सरकार को) लोगों के मरने की परवाह नहीं है. पुल का उद्घाटन हुए तीन महीने हो गए और इतनी तेजी से दरार कैसे आ गई. अगर सरकार अपने पापों को छिपाने के लिए झूठ बोल रही है तो यह उनकी समस्या है.

नाना पटोले ने शुक्रवार को किया था दौरा

बता दें कि बीते कल यानी शुक्रवार को नाना पटोले ने अटल ब्रिज (Atal Setu) का दौरा किया था. नाना पटोले ने मुंबई- ट्रांस हार्बर लिंक (एमटीएचएल) अटल सेतु का निरिक्षण किया. उसके बाद उन्होंने अपनी एक एक्स पोस्ट में कहा कि यह बेहद चिंताजनक है कि जिस अटल सेतु पुल का उद्घाटन सिर्फ तीन महीने पहले नरेंद्र मोदी ने किया था, उसमें दरार आ गई है. बड़ी संख्या में दरारें आने से यात्रियों में दहशत का माहौल है. बिहार में नवनिर्मित पुल के गिरने की घटना तो ताज़ा है, लेकिन मुंबई में भी ऐसी घटना सामने आने से सरकार के कामकाज पर कई सवाल उठ रहे हैं.

उन्होंने आगे कहा कि, कांग्रेस पार्टी के आंदोलन के तहत सरकार की भ्रष्ट कार्यप्रणाली को उजागर करने के लिए मैंने अपने सहयोगियों के साथ इस पुल का निरीक्षण किया. मामला बेहद गंभीर है और हमारी मांग है कि माननीय उच्च न्यायालय इस पर तुरंत संज्ञान ले और मामले की जांच कराये. वहीं इस मामले में कांग्रेस ने भी नरेंद्र मोदी को घेरा है. कांग्रस के आधिकारिक अकाउंट से की गई एक पोस्ट में कहा गया कि नरेंद्र मोदी ने 6 महीने पहले अटल सेतु का उद्घाटन किया था. खूब प्रचार हुआ, खूब फोटो क्लिक हुई. अब खबर है कि 18 हजार करोड़ में बने अटल सेतु में दरार आ गई. ये साफ तौर से भ्रष्टाचार का मामला है.

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पुजारी लक्ष्मीकांत दीक्षित नहीं रहे, काशी में ली अंतिम सांस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *