June 24, 2024
Prajwal Revanna

Prajwal Revanna

Share this news :

Prajwal Revanna Sex Scandal: सेक्स स्कैंडल के गंभीर आरोपों में फंसे जेडीएस सांसद प्रज्वल रेवन्ना अभी भी देश से फरार है. इस बीच उसके खिलाफ चल रही एसआईटी जांच में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं. बता दें कि प्रज्वल रेवन्ना ने 50 से ज्यादा महिलाओं का यौन शोषण किया, जिनमें 22 साल से 61 साल तक की महिलाएं शामिल हैं. 50 में से करीब 12 महिलाओं को उसने रेप किया. वहीं बाकी महिलाओं को अलग-अलग तरह के लालच देकर सुक्शुअल फेवर लिया. चुनाव के बीच जब उसके वीडियो वायरल होने लगे तो, प्रज्वल 27 अप्रैल को देश छोड़कर भाग गया.

जेडीएस सासंद प्रज्वल के खिलाफ उसके घर में काम करने वाली मेड ने यौन उत्पीड़न का केस दर्ज करवाया था. यह इस मामले में पहली एफआईआर थी. इसके बाद दो और एफआईआर दर्ज की गई हैं और इनमें भी रेप की धाराएं लगी हैं.

मामले की जांच कर रही SIT

प्रज्वल के मामले (Prajwal Revanna Sex Scandal) की जांच कर रहे एसआईटी के अधिकारी उन महिलाओं से मिल रहे हैं, जो वायरल वीडियो में दिख रही हैं. जानकारी के मुताबकि, ये महिलाएं प्रज्वल के खिलाफ शिकायत करने को तैयार नहीं हो रही हैं. इसके पीछे कई कारण हैं. महिलाओं को अपनी इमेज खराब होने का डर है. दूसरी तरफ वो रेवन्ना परिवार के प्रभाव से भी डरी हुई हैं.

जिन तीन महिलाओं ने प्रज्वल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है, उनमें से दो को धमकी मिली है. एक महिला को तो उसका घर छीनने तक की धमकी दी गई है. बता दें कि महिला को सरकारी स्कीम में घर मिला है, अब उसे धमकाया जा रहा है कि तुम्हारा घर वापस ले लिया जाएगा.

हो सकती है उम्रकैद

कर्नाटक हाईकोर्ट के एडवोटेक सुनील कुमार बताते हैं कि इस मामले में जेडीएस सासंद प्रज्वल को उम्रकैद की सजा मिल सकती है, अगर आखिर तक पीड़ित महिलाएं डटी रहीं. लेकिन किसी तरह के दबाव में आकर अगर पीड़ित महिलाएं अपना बयान बदल देती हैं, तो केस कमजोर हो जाएगा. ऐसे हालात में प्रज्वल बरी भी हो सकता है और फिर केस खत्म हो जाएगा.


Also Read-

अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी का भाई धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

‘परमात्मा ने ये कैसा आदमी भेज दिया’, राहुल गांधी का PM मोदी पर निशाना

वोटिंग के बाद बढ़ जा रहा मतदान प्रतिशत, विपक्ष ने चुनाव आयोग पर उठाए सवाल, SC में सुनवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *