June 25, 2024
G Janardhan Reddy

G Janardhan Reddy

Share this news :

G Janardhan Reddy News: कर्नाटक के विधायक और खनन कारोबारी जी जनार्दन रेड्डी की BJP में वापसी हो गई है. पार्टी ज्वाइन करने के साथ ही रेड्डी ने अपनी पार्टी कल्याण राज्य प्रगति पक्ष (KRPP) का विलय भी BJP में कर दिया. गौरतलब है कि रेड्डी कर्नाटक के गंगावती निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं. लोकसभा चुनाव से पहले जी जनार्दन रेड्डी की बीजेपी में वापसी को लेकर विपक्ष निशाना साधा रहा है.

बिना किसी शर्त पार्टी में शामिल हुए जी जनार्दन रेड्डी

पार्टी ज्वाइन करते हुए जी जनार्दन रेड्डी ने कहा कि मैं पीएम मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने के लिए एक बीजेपी कार्यकर्ता के रूप में काम करूंगा. मैं बिना किसी शर्त के पार्टी में शामिल हुआ हूं. मुझे किसी पद की जरूरत नहीं है. मालूम हो कि जनार्दन रेड्डी पर कई बार अवैध खनन के आरोप लग चुके हैं.

जनार्दन रेड्डी ने बनाई थी KRPP नाम से पार्टी

जनार्दन रेड्डी ने 2022 में बीजेपी से अलग होकर KRPP पार्टी बनाई थी. हालांकि वह बहुत दिनों तक अकेले अपनी पार्टी को चला पाने का साहस नहीं जुटा पाए. रेड्डी पर 9 CBI मामले चल रहे हैं. 2008 से 2013 के बीच हुए अवैध खनन से जुड़े इन मामलों में CBI ने उन्हें आरोपी बनाया है.

2015 में मिली थी जमानत

जनार्दन रेड्डी को सितंबर 2011 में CBI ने कर्नाटक के बेल्लारी और आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में करोड़ों रुपये के अवैध लौह अयस्क खनन के मामले में गिरफ्तार किया था. वह 2015 से जमानत पर बाहर हैं. सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाई गई जमानत शर्तों के मुताबिक उन्हें बेल्लारी के साथ-साथ आंध्र प्रदेश के अनंतपुर और कडप्पा जाने पर भी प्रतिबंध है. जनार्दन रेड्डी पर आरोप है कि उन्होंने अपनी जमानत के लिए जज को 40 करोड़ रुपये की रिश्वत भी ऑफर की थी.

कांग्रेस ने साधा बीजेपी पर निशाना

कांग्रेस ने जनार्दन रेड्डी के बीजेपी में शामिल होने को लेकर निशाना साधते हुए कहा है कि ये जनार्दन रेड्डी हैं. ये अवैध खनन का छोटा-मोटा काम करते हैं. इनके ऊपर CBI के सिर्फ 9 मामले हैं. जनार्दन रेड्डी ने अपनी जमानत के लिए जज को रिश्वत भी ऑफर की थी, यही कोई 40 करोड़ रुपए की रिश्वत.जनार्दन रेड्डी पूरे मन से अवैध खनन का काम करते हैं.

अब BJP में शामिल हो गए हैं. पूरा विश्वास है कि नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में इनका काम और फलेगा. साथ ही इनपर लगे सारे केस खत्म हो जाएंगे. साथ ही इनपर लगे सारे केस खत्म हो जाएंगे.

Also Read: Loksabha Election: मोदी-शाह के गढ़ में बीजेपी को बड़ा झटका, दो प्रत्याशियों ने किया चुनाव लड़ने से इनकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *