June 19, 2024
Loksabha Election

Loksabha Election

Share this news :

Loksabha Election News: लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी ) को लगातार झटके पर झटके मिल रहे हैं. अब गुजरात में भाजपा को ताबड़तोड़ दो झटके लगे हैं. जयंत सिन्हा, गौतम गंभीर, पवन सिंह के तर्ज पर गुजरात में बीजेपी के दो उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है. वडोदरा से सांसद रंजन भट्ट और साबरकांठा से भीखाजी ठाकुर ने अपना टिकट लौटा दिया है, जिसे बीजेपी के लिए मोदी-शाह के गढ़ में बड़ा झटका माना जा रहा है.

इन दो प्रत्याशियों ने किया चुनाव लड़ने से इनकार

साबरकांठा से बीजेपी उम्मीदवार भीखाजी ठाकोर ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर इस बात की जानकारी दी है. वहीं, रंजन भट्ट ने निजी कारणों से चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है, जिन्हें पार्टी ने लगातार तीसरी बार टिकट दिया था. बीजेपी नेता सांसद रंजन भट्ट ने एक्स पोस्ट में अपने फैसले का ऐलान किया और बताया कि वह निजी कारणों से चुनाव नहीं लड़ेंगी. उन्होंने पोस्ट किया कि मैं, रंजनबेन धनंजय भट्ट, अपने व्यक्तिगत कारणों से लोकसभा चुनाव 2024 लड़ने की इच्छुक नहीं हूं.

दोनों सीटों उतारने होंगे नए प्रत्याशी

चुनाव से ठीक पहले अब बीजेपी को इन दोनों सीटों पर नया उम्मीदवार चुनना होगा. बताते चलें कि गुजरात भाजपा में लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की घोषणा के बाद से घमासान मच गया है.

मालूम हो कि लोकसभा चुनाव के लिए रंजनबेन को तीसरी बार इस सीट से टिकट दिया गया था लेकिन अब उन्होंने अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली है. वह 2 बार यहां से सांसद हैं. रंजनबेन भट्‌ट 2014 में उपचुनावों में वडोदरा से पहली बार सांसद चुनी गई थी.

कई प्रत्याशी कर चुके हैं चुनाव लड़ने से इनकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वडोदरा के साथ वाराणसी से जीते थे. बाद में उन्होंने वडोदरा सीट खाली की थी. इसके बाद रंजनबेन भट्‌ट को मौका मिला था. पार्टी ने उन्हें 2019 में फिर टिकट दिया था. तब भी वह बड़े मार्जिन से जीती थीं. इसके बाद पाटी ने उन्हें तीसरी बार फिर टिकट दिया था लेकिन इस बार इन्होंने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है.

Also Read: जेल से अरविंद केजरीवाल ने जनता को भेजा संदेश, कहा- “जल्द लौटकर आऊंगा”

Also Read: AAP के दफ्तर को किया गया सील, अतिशी ने मोदी सरकार को दी ये चुनौती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *