June 24, 2024
Bihar

Bihar

Share this news :

लोकसभा चुनाव से पहले बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री और NDA के सहयोगी नीतीश कुमार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं. अब नीतीश कुमार की पार्टी, जनता दल (यू) के राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद अली अशरफ फातमी ने मंगलवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया. मोहम्मद अली अशरफ फातमी बिहार में पार्टी के एक प्रमुख मुस्लिम चेहरे है. ऐसे में उनका पार्टी छोड़ना नीतीश कुमार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है.

RJD में हुए शामिल

दरभंगा के पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अली अशरफ फातमी ने जदयू को छोड़ राजद का दामन थाम लिया है और चुनावी मैदान में उतरने का मन बना लिया है. अली अशरफ फातमी ने पत्र लिख कर खुद को जदयू से अलग कर लिया है. जदयू प्रमुख नीतीश कुमार को भेजे पत्र में फातमी ने कहा कि वह पार्टी पद के साथ-साथ प्राथमिक सदस्यता भी छोड़ रहे हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ इस्तीफा का लेटर

अली अशरफ फातमी ने कहा कि मैं नैतिक मूल्यों की रक्षा के लिए जनता दल (यूनाइटेड) की प्राथमिक सदस्यता सहित सभी पदों से इस्तीफा दे रहा हूं. फातमी ने अपने पत्र में कहा, कृपया मेरा इस्तीफा स्वीकार करें. मालूम हो कि फातमी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेहद खास रहे हैं, ऐसे में उनकी राजद में वापसी बिहार की राजनीति में नया मोड़ माना जा रहा है.

2019 में JDU में हुए थे शामिल

गौरतलब है कि 28 जुलाई 2019 पूर्व केन्द्रीय मंत्री अली अशरफ फातमी ने नीतीश कुमार के नेतृत्व में आस्था जताते हुए जदयू का दामन थामा था. समर्थकों समेत उन्होंने प्रदेश जदयू अध्यक्ष व सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह से पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी. बताया जाता है कि जिन शर्तों से वो जदयू में शामिल हुए थे उसे पूरा नहीं किया जा रहा था.

Also Read: Sharad Pawar: ‘चुनाव में इस सिंबल का इस्तेमाल कर सकता है शरद पवार गुट’, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला

Also Read: PM पद के लिए जनता की पहली पसंद राहुल गांधी, लड़ाई में आस पास भी नहीं हैं नरेंद्र मोदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *