June 19, 2024
Congress

Congress

Share this news :

Congress: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को आर्थिक रूप से कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा है. इस बात का जिक्र कांग्रेस नेता पहले भी कर चुके हैं. लेकिन सरकार को इससे बहुत फर्क पड़ता नहीं दिख रहा है. दरअसल, कांग्रेस को आयकर विभाग ने एक बार फिर नोटिस भेजा है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आयकर विभाग के नोटिस में पार्टी से 1700 करोड़ रुपए मांगे गए हैं. आयकर विभाग का डिमांड नोटिस वर्ष 2017-18 से 2020-21 के लिए है. 1700 करोड़ की राशि में जुर्माना और ब्याज शामिल है. आयकर विभाग के इस नोटिस को लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. राजनीतिक पड़ितों का मानना है कि मोदी सरकार चुनाव से पहले देश के सबसे प्रमुख विपक्ष को आर्थिक रूप से तोड़ना चाहती है. ऐसे में अभी तरह तरह के हथकंडे अपनाए जाते रहेंगे.

कांग्रेस ने की है दोबारा जांच की मांग

गौरतलब है कि कांग्रेस ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर कर 2017-2021 के लिए आयकर विभाग के जुर्माने की दोबारा जांच की मांग की थी, लेकिन अदालत ने कांग्रेस की याचिका खारिज कर दी. इसके बाद पार्टी को नोटिस भेजा गया है.

कांग्रेस का बैंक अकाउंट है फ्रीज

गौरतलब है कि अभी पिछले हफ्ते कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया था कि पार्टी के बैंक अकाउंट फ्रीज किए जा चुके हैं. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि हमारा पैसा जबरन छीन लिया गया है. सरकार कांग्रेस को अपाहिज बनाने की कोशिश कर रही है.
Also Read: PM पद के लिए जनता की पहली पसंद राहुल गांधी, लड़ाई में आस पास भी नहीं हैं नरेंद्र मोदी

Also Read: Mukhtar Ansari Death: मुख्तार अंसारी का पोस्टमार्टम शुरु, बेटे ने फिर लगाया धीमा जहर देने का आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *