July 15, 2024
Hathras Stampede SIT Report

हाथरस भगदड़ मामले की SIT रिपोर्ट पर भड़की मायावती

Share this news :

Hathras Stampede SIT Report: 2 जुलाई को उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में हुए सत्संग के दौरान मची भगदड़ में 121 लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद मामले की जांच की लिए विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया था. जांच के बाद एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट उत्तर प्रदेश सरकार को सौंप दी है. रिपोर्ट में बाबा नारायण साकार हरि ‘भोले बाबा’ का कहीं जिक्र नहीं किया गया. जिस पर हर तरफ सवाल उठ रहे हैं. हाथरस भगदड़ मामले में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने तीखी प्रतिक्रिया दी और योगी सरकार पर गंभीर सवाल खड़े किये हैं.

सरकारी लापरवाही का जीता-जागता सबूत

मायावती ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पोस्ट करते हुए लिखा, ‘यूपी के हाथरस जिले में सत्संग के दौरान मची भगदड़ में 121 निर्दोष महिलाओं व बच्चों आदि की दुखद मौत सरकारी लापरवाही का जीता-जागता सबूत है, लेकिन एसआईटी द्वारा सरकार को सौंपी गई रिपोर्ट घटना की गंभीरता पर आधारित न होकर राजनीति से ज्यादा प्रतीत लगती है.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘इस जानलेवा घटना के मुख्य आयोजक भोले बाबा की भूमिका के बारे में एसआईटी की चुप्पी भी लोगों में चिंता का विषय है. साथ ही, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के बजाय उन्हें क्लीन चिट देने की कोशिश भी काफी चर्चा का विषय है. सरकार को इस ओर ध्यान देना चाहिए ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों.’ बता दें कि एसआईटी जांच में आयोजक और तहसील स्तरीय पुलिस व प्रशासन को दोषी पाया. जांच रिपोर्ट के आधार पर शासन ने एसडीएम और सीओ समेत छह लोगों को निलंबित कर दिया है.

एसआईटी रिपोर्ट में कहा गया है कि इस घटना के पीछे आयोजकों की लापरवाही मुख्य वजह है. एसआईटी ने स्थानीय प्रशासन को भी जिम्मेदार ठहराया है. गौर करने वाली बात यह है कि पूरी एसआईटी रिपोर्ट में कहीं भी बाबा नारायण साकार हरि ‘भोले बाबा’ का जिक्र नहीं है.


Also Read-

BMW से महिला को मारने वाले शिवसेना नेता के बेटे को पुलिस ने कैसे पकड़ा, जानें इनसाइड स्टोरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *