June 25, 2024
Ladakh

Ladakh

Share this news :

Ladakh Protest: लद्दाख को छठी अनुसूची के तहत दर्जा देने की मांग को लेकर सोनम वांगचुक बीते 43 दिन से अनशन पर हैं. लेकिन मोदी सरकार को इससे कोई खास फर्क पड़ता नहीं दिख रहा है. ऐसे में बीजेपी को लेकर लद्दाख के लोगों में जबरदस्त नाराजगी है. जिसका खामियाजा भी भाजपा को लोकसभा चुनाव 2024 में भुगतना पड़ सकता है.

एबीपी न्यूज और सी वोटर के सर्वे के अनुसार, लद्दाख लोकसभा सीट पर होने वाले चुनाव में इस बार बीजेपी को नुकसान हो सकता है. वहां की इकलौती सीट बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) के हाथ से छिटक सकती है. यह सीट इस बार विपक्षी गठजोड़ इंडिया को हासिल हो सकती है.

सी वोटर सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार, लद्दाख इंडिया गठबंधन को 45 फीसदी वोट मिल सकते हैं. वहीं, बीजेपी को 42 फीसदी वोट मिलने के आसार हैं, जबकि अन्य के खाते में 13 फीसदी वोट जा सकते हैं. गौरतलब है कि साल 2019 के आम चुनाव में लद्दाख में बीजेपी का परचम लहराया था. ऐसे में ताजा सर्वे के नतीजे अगर सही साबित हुए तब ये बीजेपी के लिए वहां किसी झटके से कम नहीं होंगे.

इससे पहले सोनम वांगचुक ने केंद्र की मोदी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने दावा किया था कि चीन ने लद्दाख में हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया है.सोनम वांगचुक ने सिर्फ 12 लोगों के साथ सीमा क्षेत्र में जाने की इजाजत मांगी, जोनहीं मिली. ऐसे में लद्दाख के लोग पूछ रहे हैं कि सरकार चीन के कब्जे को क्यों छिपा रही है ?

Also Read: Electoral Bond: ‘ED,IT और CBI को आगे कर BJP ने चंदे वसूले’, इलेक्टोरल बॉन्ड पर बोले अखिलेश यादव

Also Read: मोदी सरकार ने 62 % नए सैनिक स्कूलों को RSS और BJP नेताओं को सौंपा: रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *