July 13, 2024

NEET- UG Student Protest

Share this news :

Congress On NEET Exam 2024: नीट परीक्षा में हुई धांधली को लेकर देश में सियासी बवाल जारी है. कांग्रेस समेत विपक्षी दल लगातार नीट परीक्षा में हुई धांधली को लेकर मोदी सरकार को घेर रहे हैं. वहीं कांग्रेस ने इस पूरे मामले की क्रोनोलॉजी समझाई है. साथ ही कांग्रेस की ओर से सीबीआई जांच की मांग भी की है. कांग्रेस की ओर से कहा गया NEET-2024 की परीक्षा में 24 लाख बच्चे, 1 लाख मेडिकल सीट पर एडमिशन लेने के लिए शामिल हुए थे.लेकिन अफसोस-बाकी परीक्षाओं की तरह ही NEET के पेपर में गड़बड़ी हुई और पेपरलीक हो गया.

कांग्रेस ने कहा कि, देश के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए हर साल NEET की परीक्षा करवाई जाती है, जिसमें डॉक्टर बनने का सपना लिए लाखों बच्चे हिस्सा लेते हैं. ये स्कैम तब सामने आया जब NEET-2024 के रिजल्ट में रिकॉर्ड 67 बच्चे टॉप कर गए, जिन्हें 720 में से 720 नंबर मिल गए. वहीं टॉप करने वाले 6 बच्चे तो हरियाणा के एक ही सेंटर के निकले. NEET के रिजल्ट में कुछ बच्चों को 718 और 719 नंबर मिल गए, जो संभव नहीं था.ऐसा इसलिए क्योंकि NEET में हर सवाल 4 नंबर का होता है और नेगेटिव मार्किंग के बाद ऐसे नंबर नहीं आ सकते.

‘धर्मेंद्र प्रधान बड़ी बेशर्मी के साथ NEET में हुई धांधली को नकार रहे’


कांग्रेस की ओर से कहा गया कि,अभी हाल ही में बिहार और गुजरात में NEET परीक्षा में धोखाधड़ी करने वालों का भंडाफोड़ हुआ है, लेकिन फिर भी मोदी सरकार में शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बड़ी बेशर्मी के साथ NEET में हुई धांधली को नकार रहे हैं. ये देश के लाखों बच्चों की कड़ी मेहनत और उनके माता पिता के खून-पसीने की कमाई का अपमान है. उनके सपनों और उम्मीदों के साथ घिनौना मजाक है. मोदी सरकार के संरक्षण में पेपरलीक माफिया ‘पैसा दो और पेपर लो’ का खेल चला रहे हैं. जिसने देश के लाखों बच्चों का जीवन बर्बाद कर दिया है. सच्चाई ये है कि नरेंद्र मोदी कोई भी परीक्षा बिना पेपरलीक के नहीं करवा सकते.इसलिए हमारी मांग है कि NEET घोटाले में CBI की जांच होनी चाहिए और छात्रों को न्याय मिलना चाहिए.

बीजेपी-RSS में मची है रार, जानिए क्या हैं इसकी वजहें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *