July 15, 2024

Narendra Modi And Mohan Bhagwat

Share this news :

BJP-RSS News: लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी और आरएसएस के बीच चल रही अतंर्कहल खुल कर सामने आ गई, जिसके बाद सियासी गलियारों में घमासान मचा हुआ है. चुनाव के बाद से ND गठबंधन में खींचतान और BJP के अंदर मोदी के नेतृत्व को लेकर असंतोष की चर्चा के बीच अब RSS और उनके बीच का अंतर्द्वंद्व भी खुल कर सामने आ गया है.

दरअसल पिछले दिनों मोहन भागवत ने कहा था कि, मणिपुर एक साल से जल रहा है, उस पर ध्यान कौन देगा. मोहन भागवत ने इशारों-इशारों में मोदी के अहंकार को लेकर कहा था कि, जो मर्यादाओं की सीमा का पालन करता है, और जो अहंकार रहित होता है वो ही सच्चा सेवक है. साथ ही उन्होंने कहा था कि लोकसभा चुनाव प्रचार में मर्यादा टूटना दुखद है. मोहन भागवत ने मोदी की राजनीति पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि, विपक्ष को विरोधी नहीं बल्कि प्रतिपक्ष कहना चाहिए.

BJP में सन्नाटा हैं

इसके बाद RSS पदाधिकारी इंद्रेश कुमार का जो बयान आया वो भी RSS और बीजेपी के बीच चल रहे घमासान को उजागर करता है. RSS के पदाधिकारी इंद्रेश कुमार ने कहा कि BJP को 240 सीटों पर रोक कर अहंकार का दंड सबक स्वयं प्रभु राम ने ही दिया है. RSS नरेंद्र मोदी पर अहंकारी, मर्यादा को लांघने, सेवक के गुण से विहीन हों, प्रभु राम द्वारा दंडित किए जाने जैसे गंभीर आरोप लगाये, लेकिन BJP में सन्नाटा है.

बता दें लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा का RSS को लेकर एक बयान सामने आया था. उन्होंने कहा था कि उन्होंने कहा था कि बीजेपी लगातार बढ़ रही है. अब पार्टी उस स्थिति से विकसित हो चुकी है, जहां उसे आरएसएस की जरूरत थी. अब पार्टी अपने दम पर सक्षम है और अपना काम खुद चलाती है. उन्होंने आरएसएस एक वैचारिक मोर्चा बताया था.

Maharashtra News: शरद पवार ने मोदी को दिया धन्यवाद, बोले- ‘जहां-जहां उनकी रैली हुई वहां…’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *