June 24, 2024
Kisan Mahapanchayat

Kisan Mahapanchayat

Share this news :

दिल्ली के रामलीला मैदान में आज संयुक्त किसान मोर्चा की एक बड़ी किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) हो रही है. इस महापंचायत में देश भर के किसान शामिल हुए हैं. इसी बीच आज ही कांग्रेस (Congress) ने ‘किसान न्याय गारंटी’ योजना का ऐलान कर अन्नदाताओं को सौगात दी है.

कांग्रेस ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि मोदी सरकार के 10 साल देश के किसानों के लिए ‘अन्याय काल’ साबित हुए हैं.आज देश के किसान घाटे में खेती करने के लिए मजबूर हैं. उन्हें न फसलों के सही दाम मिल रहे हैं और न MSP की गारंटी. यह किसानों के साथ अन्याय है. इस अन्याय के खिलाफ आज किसान दिल्ली के रामलीला मैदान में अपनी मांगों के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं. ऐसे में किसानों को न्याय दिलाने के लिए ‘किसान न्याय’ लेकर आई है.

कांग्रेस का ‘किसान न्याय’

कांग्रेस के ‘किसान न्याय’ के तहत MSP को कानूनी दर्जा दिया जाएगा और डॉ. स्वामीनाथन आयोग के फार्मूले के अनुसार MSP तय होगी. किसानों के ऋण माफ करने और ऋण माफी की राशि निर्धारित करने के लिए एक स्थायी कृषि ऋण माफी आयोग की स्थापना होगी.

इसकेसाथ ही किसान की फसल के नुकसान होने पर 30 दिनों के भीतर सीधे बैंक खाते में भुगतान सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में परिवर्तन होगा कृषि उत्पादों के लिए एक आयात-निर्यात नीति लागू होगी, जिसमें किसानों के हित सर्वोपरि होंगे. किसान GST मुक्त होंगे. कृषि में इस्तेमाल होने वाले सामान पर टैक्स से छूट के लिए GST में संशोधन होगा.

एक बड़े आंदोलन की जरूरत: टिकैत

किसान महापंचायत को लेकर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि देश में एक बड़े आंदोलन की जरूरत है. ऐसे में हमारा नेतृत्व यहां चर्चा करेगा और बाद में हम अपने फैसले की घोषणा करेंगे. एमएसपी गारंटी कानून (msp guarantee law) एक बड़ा मुद्दा है. आज जो भी निर्णय लिया जाएगा, यहां एकत्र हुए लोग अपने-अपने गांवों, शहरों, राज्यों में लोगों को इसकी जानकारी देंगे.

Also Read: Congress: क्या है कांग्रेस की ‘किसान न्याय गारंटी’ स्कीम? इन 5 पॉइंट्स पर काम करने का किया ऐलान

Also Read: “PM मोदी नहीं चाहते कि गरीबों को इस देश में भागीदारी मिले”, महाराष्ट्र में बोले राहुल गांधी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *