July 13, 2024
Deepender Singh Hooda

कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा (Deepender Singh Hooda)

Share this news :

Haryana Politics: हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी दल तैयारीयों में जुट गए हैं. इस बीच कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने सोमवार (17 जून) को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कांग्रेस पार्टी अग्निवीर योजना को रिजेक्ट करती है और सरकार से मांग करती है कि सेना में पहले की तरह पक्की भर्ती शुरू की जाए. उन्होंने (Deepender Singh Hooda) कहा कि चुनाव के नतीजे भी यह दर्शाते हैं कि देश के जनमानस ने इस योजना को रिजेक्ट कर दिया है. अग्निवीर योजना न देशहित में है और न युवाओं के हित में है.

मोदी सरकार पर साधा निशाना

दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने इस दौरान मोदी सरकार को पश्चिम बंगाल में हुए रेल हादसे का जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि हम पश्चिम बंगाल में हुए दर्दनाक रेल हादसे में दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि देते हैं. इसके साथ ही ईश्वर से सभी घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करते हैं. पिछले 10 वर्षों में जो रेल दुर्घटनाएं हुई हैं, वह केंद्र सरकार की उपेक्षा और कुप्रबंधन का नतीजा है. हम इसके खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे.

अग्निवीर योजना को लेकर कही ये बात

कांग्रेस सांसद (Deepender Singh Hooda) ने अग्निवीर योजना को लेकर भी केंद्र सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से खबरों में एक बात आ रही है कि सेना के इंटरनल सर्वे में ‘अग्निपथ’ से जुड़ी बहुत सारी खामियों का जिक्र किया जा रहा है. सेना की इंटरनल रिपोर्ट में कुछ बातें सामने आई हैं कि अग्निवीर योजना से सेना के मनोबल, आपसी भाईचारे और एक-दूसरे के लिए मर-मिटने की भावना में गिरावट आई है. अग्निवीरों की ट्रेनिंग का समय पर्याप्त नहीं है. इसके अलावा अग्निवीर से सेना भर्ती में कमी आई है, जिससे 2035 तक सेना में भारी शॉर्टफॉल देखने को मिलेगा.

केंद्र सरकार के आगे रखी ये मांग

दीपेंद्र हुड्डा ने आगे कहा कि हरियाणा में पहले हर साल करीब 5,500 हजार युवाओं की सेना में पक्की भर्ती होती थी. लेकिन अब केवल 900 अग्निवीर लिए जा रहे हैं, जिनमें भी लगभग 225 अग्निवीर पक्के किए जाएंगे और बाकी घर लौट आएंगे. मोदी सरकार ने सेना में ऐसी स्थिति ला दी है. उन्होंने कहा कि हम हमेशा से कहते आए हैं कि अग्निपथ योजना नौजवानों के साथ ही देशहित में नहीं है. इसलिए हमारी मांग है कि इस योजना को खत्म कर सेना में पक्की भर्तियां शुरू की जाए.


Also Read-

IIT खड़गपुर के कैंपस में मिला 21 वर्षीय छात्रा का शव, जांच में जुटी पुलिस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *