July 15, 2024
Assam Floods

Assam Floods

Share this news :

Assam Floods: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज से 4 साल पहले 2021 में एक चुनावी रैली में कहा था कि अगर विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) फिर से चुनी जाती है तो असम बाढ़ मुक्त राज्य बनेगा. शाह ने कहा था, “भाजपा को 5 साल और दीजिए और असम बाढ़ मुक्त राज्य बन जाएगा. यहां कभी बाढ़ नहीं आएगी.” असम के लोगों ने अमित शाह की बात का भरोसा किया और असम में बीजेपी की सरकार बनी. लेकिन गृहमंत्री और बीजेपी ने अपना बाढ़ मुक्त असम बनाने की वादा नहीं पूरा किया.

बाढ़ से 18.8 लाख लोग प्रभावित

हर साल की तरह इस साल भी असम एक बाढ़ की चपेट में है. 28 जिलों के करीब ढाई हजार गांव बाढ़ से जूझ रहे हैं. इससे लगभग 18.8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं राज्य में बाढ़, लैंडस्लाइड और तूफान से अब तक 85 लोगों की जान भी जा चुकी है. राज्य में ब्रह्मपुत्र, दिगारू और कोलोंग नदिया खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. अब तक कुल 543 राहत शिविर और राहत वितरण केंद्र बनाए गए हैं. बाढ़ से लोगों को बचाने के लिए NDRF, SDRF और सेना के जवान लगे हुए हैं.

28 जिले बाढ़ की चपेट में

असम के 33 जिलों में 28 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं. बाढ़ के कारण बारपेटा, बिश्वनाथ, काचर, चराईदेव, चिरांग, डरांग, धेमाजी, डिब्रुगढ़, गोलाघाट, जोरहाट, कामरूप मेट्रोपॉलिटन, करबी आंगलोंग, करीमगंज, लखीमपुर, मजूली, मोरीगांव, नागांव, नलबारी, सिवासागर, सोनितपुर, तमुलपुर, तिनसुकिया और उदलगुरी जिले बुरी तहर से प्रभावित हुए हैं. सबसे खराब हालत धुबरी जिले की है, जहां 4.75 लाख लोग बाढ़ की समस्या से जूझ हैं.

राहुल गांधी ने बाढ़ पीड़ितों से की मुलाकात

इस बीच नेता विपक्ष राहुल गांधी ने असम जाकर बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की और उनकी परेशानियों को सुना. उन्होंने असम में फुलेरताल में बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की. असम यात्रा के बाद राहुल गांधी ने एक्स पर लिखा कि असम में बाढ़ से हुई भीषण तबाही दिल दहला देने वाली है.

राहुल गांधी ने आगे लिखा, “राज्य भर के सभी शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना. असम कांग्रेस के नेताओं ने मुझे जमीनी स्थिति से अवगत कराया. 60+ मौतें, 53,000+ विस्थापित, 24,00,000 प्रभावित…, ये आंकड़े भाजपा की डबल इंजन सरकार के घोर और गंभीर कुप्रबंधन को दर्शाते हैं जो “बाढ़ मुक्त असम” के वादे के साथ सत्ता में आई थी.”


Also Read-

मोदी 3.0 का एक महीना: 7 आतंकी हमले, 12 जवान शहीद, 9 नागरिकों की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *