July 15, 2024

Dharmendra Pradhan

Share this news :

Dharmendra Pradhan On NEET-UG: नीट-यूजी 2024 की परीक्षा और इसके परिणाम को लेकर इन दिनों काफी विवाद चल रहा है. इस बीच सु्प्रीम कोर्ट ने गुरुवार को 5 मई को आयोजित परीक्षा के दौरान 1,563 उम्मीदवारों को दोबारा का विकल्प देने की केंद्र की सिफारिश को स्वीकार कर सुप्रीम कोर्ट ने एनटीए को 23 जून को दोबारा परीक्षा आयोजित करने और 1,563 उम्मीदवारों के स्कोरकार्ड रद्द करने की अनुमति दी, जो उपस्थित होने का विकल्प चुनेंगे.

धर्मेंद्र प्रधान ने क्या कहा
साथ ही जो लोग उपस्थित नहीं होना चाहते हैं, उनके मूल स्कोरकार्ड (ग्रेस मार्क्स के बिना) पर विचार किया जाएगा. वहीं नीट यूजी से जुड़े मामले पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी प्रतिक्रिया दी है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, “अभी जो मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. सरकार ने भी उसमें अपना पक्ष रखा है. सरकार उसका सामना करने के लिए, उसका संतुष्टि के साथ बच्चों को उत्तर देने के लिए बहुत प्रमाणिकता के साथ खड़ी है.जो घटना सामने आई है, सरकार ने उसको गंभीरता से लिया है. NTA देश में 3 बड़ी परीक्षाएं (NEET, JEE और CUET) सफलतापूर्वक आयोजित करता है. निश्चित रूप से दोषियों को दंड दिया जाएगा.”

बता दें कि, एनटीए ने अदालत को सूचित किया कि 6 जुलाई से शुरू होने वाली काउंसलिंग प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने के लिए दोबारा ली जाने वाली परीक्षा का परिणाम 30 जून से पहले घोषित कर दिया जाएगा. नीट परीक्षा के संचालन में कथित धांधली पर दायर की गईं याचिकाओं पर अदालत ने एक नोटिस जारी किया और इसे 8 जुलाई को आने वाली याचिकाओं के साथ टैग किया. इनमें से एक याचिका फिजिक्सवाला के सीईओ अलख पांडे द्वारा दायर की गई थी.

राहुल गांधी की हुंकार के बाद मोदी सरकार बैकफुट पर, अग्निपथ स्कीम में होगा बदलाव, बनी समिति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *